Sep 09
Aacharya Shri 108 Virag Sagar Ji Sansmaran7

SANSMARAN 61. गुरुदेव की प्रेम-करुणा घटना है सन् 1984 की, जब मुनि श्री विराग सागर का…

Sep 09
Aacharya Shri 108 Virag Sagar Ji Sansmaran6

Sansmaran 51. मिली नि:स्वार्थ धर्मपरायणता की झलक दूसरे के मनोभावों को सहजता से समझने…

Sep 09
Aacharya Shri 108 Virag Sagar Ji Sansmaran5

SANSMARAN 41. सावन बरसा वात्सल्य का सन् 1980 दुर्ग चातुर्मास की बात है प.पू. आ. श्री…

Sep 09
Aacharya Shri 108 Virag Sagar Ji Sansmaran4

SANSMARAN 31.परीक्षा की घड़ियां क्षुल्लक पूर्ण सागर जी जब 1980 में दीक्षोपरांत अपने…

Sep 09
Aacharya Shri 108 Virag Sagar Ji Sansmaran3

SANSMARAN 21. अविराग कदम 1978 में अरविंद एक अनुशासनवान, अध्ययनशील,गुणप्रवीण, विनयी तथा…

Sep 07
Aacharya Shri 108 Virag Sagar Ji Sansmaran2

SANSMARAN 11. असहायों के सहारे पूत के पाँव (लक्षण) पलने में नजर आने लगते है ये कहावत…